मन भर के जीयो..* *…मन में भर के मत जीयो.*

*मन भर के जीयो..*

*मन* और *मकान* को..
वक्त – वक्त पर साफ करना बहुत
जरूरी है।
क्योंकि
*मकान में बेमतलब सामान*..
और
*मन में बेमतलब गलतफहमियां*.
भर जाती हैं..

*मन भर के जीयो..*
*…मन में भर के मत जीयो.* 🍃