Sanskar and Daulat

कामयाबी के दरवाजे उन्हीं के लिए खुलते हैं,
जो उन्हें खटखटाने की ताकत रखते हैं।

संस्कारों से बड़ी कोई वसीयत नहीं,
और ईमानदारी से बड़ी कोई विरासत नहीं।

प्यारी सी सुबह का प्यारा सा प्रणाम