सदा मुस्कुराते रहिये

क्या खूब लिखा है किसी ने
बीते कल का अफसोस और आने वाले कल की चिन्ता,
दो ऐसे चोर हैं..
जो हमारे आज की खूबसूरती को चुरा ले जाते हैं।
“”सदा मुस्कुराते रहिये””